Kaal Sarp Dosp Puja

Platform To Search Best Pandit Ji For Puja

Platform To Search Best Pandit Ji For Puja

Pandits plays a vital role in Hindu religion for preserving and transmitting cultural and religious transitions with in their Dharma.Pandits provides spiritual guidance to individuals as well as families ,which helps them to navigate through the challenges of life and make important decision accordingly.  PanditG.in is a leading portal where…
Read More

Ujjain Complete Information

उज्जैन स्वर्ग है क्यौ है आइये जानते हैं ?उज्जैन मध्य प्रदेश एक मात्र स्थान जहाँ शक्तिपीठ भी है, ज्योतिर्लिंग भी है, कुम्भ महापर्व का भी आयोजन किया जाता है । यहाँ साढ़े तीन काल विराजमान है “महाँकाल,कालभैरव, गढ़कालिका और अर्धकाल भैरव।” यहाँ 84 महादेव है,यही सात सागर है।। उज्जैन विश्व…
Read More

क्यों आती है इतनी भारी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ उज्जैन के शनि मंदिर पर??

यहां पर हर अमावस्या को लोग स्नान करने आते है, मध्य प्रदेश की धार्मिक राजधानी उज्जैन को मंदिरों की नगरी भी कहा जाता है ,उज्जैन से सांवेर जाते समय बीच में शनि मंदिर का स्थान है यह प्रमुख दर्शनीय स्थल है! इस मंदिर की सबसे बड़ी बात यह है कि…
Read More

जानिए श्राद्धकर्म के विषय में विस्तृत एवंमहत्वपूर्ण जानकारी एवं किस तरह की रखे पितृपक्ष में सावधानी

जानिए पूर्णिमा श्राद्ध से लेकर अमावस्या श्राद्ध तक विस्तृत वर्णन –पूर्णिमा श्राद्ध – 20 सितंबरप्रतिपदा श्राद्ध – 21 सितंबरद्वितीया श्राद्ध – 22 सितंबरतृतीया श्राद्ध – 23 सितंबरचतुर्थी श्राद्ध – 24 सितंबरपंचमी श्राद्ध – 25 सितंबरषष्ठी श्राद्ध – 26 सितम्बरषष्ठी श्राद्ध – 27 सितंबर (कपिला षष्ठी) षष्ठी का श्राद्ध दौनों दिन…
Read More

केसे पता करे कि कालसर्प दोष है के नही ??

यदि जन्म पत्रिका नहीं हो तथा जीवन में निम्नलिखित समस्याओं में से कोई एक भी हो तो वे अपने आपको कालसर्प दोष से पीड़ित समझें तथा उपाय करें???1.मेहनत का पूर्ण फल प्राप्त नहीं होता। Contact us for Ujjain Kaalsarp Dosh Puja booking with the best Pandit Ji, we give you…
Read More

जानिए सम्पूर्ण जानकारी क्या है कालसर्प दोष के बारे में ??

कालसर्प दोष एक ऐसा दुर्योग है जो जन्मपत्रिका में हो तो जातक का जीवन संघर्षमय  होता है।  कालसर्प को लेकर बहुत भ्रम व संशय उत्पन्न किया जा रहा है। इसके पीछे मुख्य कारण है इस दोष की विधिवत् शांति के बारे में प्रामाणिक जानकारी का अभाव, जिसके चलते कुछ लोग…
Read More

जानिए महाशिवरात्रि महापर्व और शिव नवरात्रि महोत्सव के बारे में।

वर्ष में एक बार ही; श्री महाकालेश्वर भगवान् को हल्दी अर्पित की जाती हैं।”श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में महाशिवरात्रि के पहले शिव नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस दौरान पूरे 9 दिन तक महाकाल के दरबार में देवाधिदेव महादेव और माता पार्वती के विवाहोत्सव का उल्लास रहता है।श्री महाकाल…
Read More

धनतेरस के दिन कैसे करें मां लक्ष्‍मी की पूजा ???

धनतेरस के दिन प्रदोष काल में मां लक्ष्‍मी की पूजा करनी चाहिए. इस दिन मां लक्ष्‍मी के साथ महालक्ष्‍मी यंत्र की  पूजा     भी  की जाती है.    धनतेरस पर इस तरह करें मां लक्ष्‍मी की पूजा:–  सबसे पहले एक लाल रंग का आसन बिछाएं और इसके बीचों बीच मुट्ठी भर अनाज…
Read More

वास्तु के हिसाब से कौन-सी दिशा का धन लाभ में सर्वाधिक महत्व है ?

घोड़े की नाल, रसोई घर में बल्ब और स्वास्तिक का रखें ध्यान-वास्तु शास्त्र के अनुसार हमारे घर में वास्तु दोष के लिए कुछ हद तक हम स्वयं जिम्मेदार रहते है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की सुख, शांति व समृद्धि के लिए रसोई घर बहुत ही खास माना गया है।…
Read More

जानिए किस स्तिथि व्यक्ति मांगलिक कहलाता है या मांगलिक दोष से पीड़ित होता है??

जानिए किस स्तिथि व्यक्ति मांगलिक कहलाता है या मांगलिक दोष से पीड़ित होता है:-जब किसी व्यक्ति की जन्म कुंडली के 4,1, 7, 9, 12 वें स्थान या भाव में मंगल स्थित हो तो वह व्यक्ति मांगलिक होता है।मांगलिक लोगों की खास बातें :-मांगलिक होने का विशेष गुण यह होता है कठिन से कठिन…
Read More

उज्जैन महाकाल में दर्शन की नई व्यवस्था । पढ़िए पूरी जानकारी..

श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग उज्जैन मंदिर में 8 जून से नई दर्शन व्यवस्था लागू होगी सीधे मन्दिर पहुँचने पर दर्शन नहीं हो पायेंगे, मात्र प्री-बुकिंग के आधार पर मन्दिर में प्रवेश होगा । 8 जून से दशनार्थियों के लिए खोला जाएगा श्री महाकालेश्वर मन्दिर, दर्शन 3 स्लॉट में होंगे* कलेक्टर एवं…
Read More

जानिए उज्जैन के प्रसिद्ध गोपाल मंदिर के बारे में ????

गोपाल मंदिर उज्जैन का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है ,इस मंदिर का निर्माण दौलतराव सिंधिया की धर्मपत्नी वायजा बाई ने संवत 1901 में कराया था इस मंदिर में प्रवेश द्वार चांदी का बना हुआ है ,जो एक अलग ही आकर्षण का केंद्र रहता है। मंदिर में दाखिल होते से ही…
Read More

क्या है कालसर्प दोष पूजा

प्रत्येक जातक की कुंडली को राहु और केतु 180 यूनिटी डिग्री पर विच्छेदन करते हैं किसी ने किसी भाव जब समस्त गृह राहु से लेकर केतु के मध्य आ जाते हैं तब कालसर्प दोष बनता है राहु और केतु क्या है :-   कुंडली में केतु राहु की उपस्थिति रहती है  यह दोनों छाया ग्रह है…
Read More

जानिए कैसे बनता है मांगलिक दोष

किसी जातक की कुंडली में सप्तमी या अष्टम प्रथम यह चतुर्थ एवं द्वादश भाव में मंगल स्थित है तो इसकी कुंडली मांगलिक मानी जाती है वैसे हर स्थिति में मांगलिक दोष अशुभनहीं होता है कुछ लोगों के लिए शुभ भी होता हैमांगलिक दोष वाले जातक मांगलिक दोष वाले जातक को प्रति…
Read More

जानिए शारदीय नवरात्र के बारे में कुछ विशेष जानकारी

17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तकभुवनेश्वरीसंहिता में कहा गया है“यथा वेदो ह्यनादिर्हि तथा सप्तशती मता” अर्थात जिस प्रकार वेद अनादि हैं, उसी प्रकार सप्तशती भी अनादि ही है।व्यासजी ने मानवकल्याण मात्रा से ही मार्कण्डेयपुराण में इसका प्रकाशन किया है।मार्कण्डेय पुराण के अंतर्गत देवी-माहात्म्य में स्वयं जगदम्बा का आदेश है-शरत्काले महापूजा…
Read More

किस तरह से करें घर में मंगल की पूजा जानिए होगा मंगल दोष दूर????

मंगलवार के दिन को मंगल ग्रह का दिन माना गया है!  मंगलवार के दिन व्रत रखें पूजा करें तो अति उत्तम रहता है, मंगलवार के दिन सूर्योदय से पहले उठकर निवृत्त होकर तन मन को स्वच्छ करके,लाल कलर के नए कपड़े पहन कर मंडप में उत्तर दिशा की ओर मुंह…
Read More

क्या है मंगल दोष और मांगलिक दोष पूजा ???

मंगल दोष पूजा=ज्योतिष के अनुसार कुंडली में कई दोष ऐसे होते हैं जो जातक की ज़िन्दगी पर काफी असर करते हैं। इन्ही दोषो में से एक है मंगल दोष।  जिन लोगों की कुंडली में मंगल दोष होता हैं उनके विवाह में बहुत परेशानियां आती हैं। मंगल दोष पूजा से मंगल दोष का…
Read More

काल भैरव के मदिरापान के पीछे क्या राज है???

काल भैरव का यह मंदिर लगभग 6000 साल पुराना माना जाता है ,यह एक तांत्रिक मंदिर है इस मंदिर को वाम मार्गी मंदिर भी मांन सकते हो ऐसे मंदिरों में मांस मदिरा बली मुद्रा जैसे प्रसाद चढ़ाये जाते हैं, पुराने समय में यहां पर सिर्फ तांत्रिकों ही आने की अनुमति…
Read More

Kaal Sarp Dosh Puja in Nagpanchmi Ujjain

किसी जातक की कुंडली में काल सर्प दोष की समस्या तब उत्पन्न होती है, जब सभी ग्रह राहु और केतु के बिच आ जाते हे तो काल सर्प दोष का निर्माण होता हे । जो व्यक्ति इस दोष से प्रभावित होता है, उसे अपने परिवार, बच्चों और जीवनसाथी के साथ…
Read More

क्यों है विशेष महत्व उज्जैन महाकाल में शिवरात्रि के दिन कालसर्प दोष पूजा एवं मंगल दोष पूजा का ?

अगर उज्जैन में आप शिवरात्रि के दिन जा रहे हो और इस दिन पूजन अनुष्ठान उज्जैन में कर रहे हो तो यह अपने आप में पुण्य फल मिलने वाली बात है क्यूंकि शास्त्रों के अनुसार यह कहा गया है की 12 ज्योतिर्लिंग में से एक माना गया है कालसर्प दोष…
Read More

कौन से है महत्वपूर्ण दिन काल सर्प दोष पूजा के लिए ???

कालसर्प दोष की शांति के ये हैं कुछ खास दिन ?कालसर्प दोष इस दोष के निवारण के लिए कालसर्प दोष पूजा करवाई जाती है। वैसे तो यह पूजा नासिक (त्रयंबकेश्वर) और उज्जैन (महाकाल) में वर्ष में कभी भी करवाई जा सकती है, लेकिन यदि कुछ विशेष तिथि, नक्षत्र, दिन और…
Read More